25.9 C
Munich
Wednesday, August 10, 2022

‘तकिये के साथ करो Sex’ मेडिकल कॉलेज में रैगिंग के दौरान सीनियर्स ने पार कर दी हदें

Must read

इंदौर,मध्यप्रदेशः- Medical College Ragging: कॉलेजों में एडमिशन लेने वाले नए छात्रों के साथ कॉलेज के सीनियर छात्रों द्वारा ली जाने वाली रैंगिंग देश भर में प्रतिबंधित है। इसे अपराध घोषित किया जा चुका है। यहां तक कि कॉलेजों में एडमिशन के दौरान छात्रों से इस बात का हलफनामा लिया जाता है कि वह रैंगिंग जैसे अपराधों से खुद को दूर रखेंगे, बावजूद इसके देशभर के कॉलेजों में रैगिंग की घटनाएं होती रहती है। ताजा मामला मध्य प्रदेश के एक मेडिकल कॉलेज का है, जहां सीनियरों ने अपने जुनियर की रैगिंग लेने में सारी शर्म और हया की सीमा लांघ दी है।

जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश के इंदौर में मेडिकल की पढ़ाई कर रही फर्स्ट ईयर की छात्रा ने अपने सीनियर्स के खिलाफ रैगिंग और हैरेसमेंट करने की शिकायत दर्ज कराई है। छात्रा का आरोप है कि सीनियर्स ने उसे तकिए के साथ संबंध बनाने के लिए कहा और इसके लिए मजबूर किया। छात्रा ने अपनी शिकायत में ये भी आरोप लगाया है कि उसके क्लास की दूसरी लड़कियों के साथ भी इसी तरह का व्यवहार किया गया।


Read More : Chhattisgarh : एनीकट पर भीड़ देख रोक रहा था पुलिसकर्मी, शख्स ने कारण पूछा तो ASI ने घसीट-घसीट कर पीटा

पुलिस ने छात्रा की शिकायत पर 10 छात्रों के खिलाफ केस दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है। इंदौर के एमजीएमएम कॉलेज में फर्स्ट ईयर की मेडिकल स्टूडेंट ने थर्ड ईयर के अपने सीनियर पर उसके साथ रैगिंग करने और हैरेसमेंट करने की शिकायत यूजीसी की एंटी-रैगिंग हेल्पलाइन पर भी की है। मेडिकल स्टूडेंट ने अपनी शिकायत मे कहा है कि उसके सीनियर ने उसे तकिए के साथ यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर किया गया और उसकी क्लास की दूसरी किसी भी छात्रा का नाम लेकर उसके खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने को भी कहा गया।

Medical College Ragging: इधर मामले के संज्ञान में आते ही यूजीसी ने एमजीएम कॉलेज के डीन डॉ. संजय दीक्षित को छात्रा की शिकायत के संबंध में जानकारी दी और दोषी छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए कहा। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई।

एमजीएम के डीन डॉ. संजय दीक्षित का कहना है कि पीड़िता ने कुछ दिन पहले यूजीसी की एंटी-रैगिंग हेल्पलाइन पर उत्पीड़न और रैगिंग की शिकायत दर्ज कराई थी। यूजीसी का मेल मिलने के बाद तत्काल एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक बुलाई गई। कमेटी की बैठक में एफआईआर कराने का फैसला हुआ जिसके बाद शिकायती पत्र पुलिस को भेजा गया।

Read More : सुकमा में सुरक्षाबलों ने तोड़ दी नक्सलियों की कमर, पांच लाख के इनामी नक्‍सली हड़मा को किया ढेर

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12078/ 108spot_img

Latest article