25.9 C
Munich
Wednesday, August 10, 2022

सरकारी मेडिकल कॉलेज में रैगिंग, जूनियर छात्रों को लाइन में खड़ा कर मारे थप्पड़, नशे में धुत सीनियर्स ने दी गालियां

Must read

रतलामः Ragging From Junior Students : मध्य प्रदेश में इंदौर के बाद रतलाम में सरकारी मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला सामने आने से हड़कंप मच गया है। मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक दर्जन से ज्यादा जूनियर छात्रों को लाइन में खड़ा कर सीनियर थप्पड़ मारने के साथ गालियां देते नजर आ रहे हैं। वीडियो में सीनियर छात्र नशे में धुत दिखाई दे रहे हैं।

मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला दो दिन पुराना बताया जा रहा है। यह भी सामने आया है कि रैगिंग की शिकायत पर मौके पर पहुंचे वार्डन डॉ. अनुराग जैन को भी सीनियर छात्रों ने नहीं बख्शा। छात्रों ने उन पर भी शराब की बोतलें फेंकी। घटना के वायरल वीडियो में जूनियर छात्र सिर झुकाए लाइन में खड़े दिख रहे हैं। सीनियर छात्र उनके साथ गाली-गलौज करतेदिख रहे हैं।


Ragging From Junior Students : इस मामले में शासकीय मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक डॉ. प्रदीप मिश्रा का कहना है कि जूनियर छात्रों को लाइन में खड़ा कर सीनियर्स ने पिटाई की। इसका वीडियो सामने आया है। कॉलेज की एंटी रैगिंग कमेटी जांच कर रिपोर्ट तैयार कर रही है। डॉ. जैन पर शराब की बोतलें फेंकना भी घिनौना कृत्य है। सभी दोषी सीनियर छात्रों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जा रही है।

वहीं, कॉलेज की अनुसाशन समिति के अध्यक्ष डॉ जगदीश हुन्डेकरी ने बताया कि यह 28 तारीख की घटना है। इसकी मेल पर भी शिकायत मिली है। सीनियर स्टूडेंट्स जूनियर के साथ मारपीट कर रहे हैं। अभी बात सामने आई है कि वार्डन पर भी उन्होंने बोतल फेंकी है। अभद्र व्यवहार किया है। इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। अनुसाशन समिति ने सभी दोषी छात्रों के खिलाफ कड़ी करवाई की अनुशंसा की है। अब कालेज प्रबंधन दोषी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करेगा।

मेडिकल कॉलेज में आए दिन विवाद होते रहते हैं। कॉलेज प्रबंधन का स्टाफ और छात्रों पर नकेल नहीं है। शिक्षण संस्थानों में रैगिंग पर नकेल के लिए सख्त कानून हैं, लेकिन मेडिकल कॉलेज के छात्रों पर इसका कोई असर नहीं है।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12078/ 108spot_img

Latest article