3.4 C
Munich
Wednesday, February 1, 2023

IND Vs NZ T20 : संजू सैमसन से हो रहा भेदभाव! ये आंकड़े दे रहे हैं गवाही

Must read

Sanju samson discrimination: संजू सैमसन। टी20 विश्व कप 2022 में तो मौका नहीं ही मिला, लेकिन उनका सेलेक्शन न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जा रही तीन टी20 मैचों की सीरीज के लिए किया गया है। पहला मैच बारिश के कारण रद हो गया था। उसके बाद दूसरा मैच 20 नवंबर को खेला गया, लेकिन इस मैच में भी उन्हें मौका नहीं दिया गया। टीम इंडिया का मैनेजमेंट ऋषभ पंत पर कुछ ज्यादा ही भरोसा जता रहा है। जब वे मिडल आर्डर में नहीं चले तो उन्हें ओपनिंग भी करवा दी गई, लेकिन सलामी बल्लेबाज के तौर पर भी वे फ्लॉप ही साबित हुए।

Chhattisgarh Today
Chhattisgarh Today

Sanju samson discrimination: टीम मैनेजमेंट संजू सैमसन को लगातार मौके देने के मूड में नजर नहीं आ रहा है। खास बात ये है कि इस वक्त टीम इंडिया के लिए जितने भी विकेट कीपर बल्लेबाज खेल रहे हैं, उस सभी से पहले संजू सैमसन ने डेब्यू किया था, लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि उन्होंने इन सभी से कम मैच खेले हैं। ऋषभ पंत की बात तो दूर की है, इशान किशन भी उनसे ज्यादा मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 2021 ही में डेब्यू किया
था।


केएल राहुल ने साल 2016 में किया डेब्यू, ऋषभ पंत का डेब्यू 2017 में हुआ 

Sanju samson discrimination: सबसे पहले बात शुरू करते हैं टीम इंडिया के उपकप्तान केएल राहुल की। केएल राहुल ने साल 2016 में टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया था, वे अब तक भारतीय टीम के लिए 72 टी20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं। ऋषभ पंत ने इसके एक साल बाद यानी साल 2017 में भारतीय टीम के लिए डेब्यू किया था, वे अब तक भारत के लिए 64 टी20 मैच खेल चुके हैं। अब जरा इशान किशन के बारे में भी जान लीजिए। उन्होंने तो साल 2021 में ही डेब्यू किया था और तब से लेकर अब तक वे 19 टी20 मैच टीम इंडिया के लिए खेल चुके हैं।

Sanju samson discrimination: वहीं अगर दिनेश कार्तिक की बात करें तो उन्होंने साल 2006 में डेब्यू किया और अब तक 60 टी20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं। संजू सैमसन ने दिनेश कार्तिक के बाद सबसे पहले डेब्यू किया। उनका डेब्यू का साल था 2015, लेकिन उनको जानकर ताज्जुब होगा कि अब तक उनके नाम केवल 16 टी20 इंटरनेशनल मैच दर्ज हैं। साल 2016 से लेकर अब तक उन्हें लगातार सीरीज में मौके ही नहीं मिल पाए। उन्हें एक दो मैचों में मौका मिलता है और फिर टीम से ड्रॉप कर दिए जाते हैं।

सैमसन और ऋषभ पंत के साल 2022 में आंकड़ों पर नजर डालिए 

Sanju samson discrimination: अब जरा इसी साल यानी 2022 में संजू सैमसन और ऋषभ पंत के मैच और उनके आंकड़ों पर गौर करेंगे तो भी तस्वीर साफ हो जाएगी। साल 2022 में अब तक उन्होंने छह टी20 मैच खेले हैं और उनकी पांच पारियों में उनकी बल्लेबाजी आई है। इसमें वे 179 रन बना चुके हैं। उनका औसत 44 से ज्यादा का है और स्ट्राइक रेट 158 से भी ज्यादा का है। वहीं ऋषभ पंत की बात की जाए तो उन्होंने इस साल 20 पारियों में बल्लेबाजी की है, इसमें उनके बल्ले से 353 रन निकले हैं।

Sanju samson discrimination:

Sanju samson discrimination: पंत का औसत 22.06 का है और स्ट्राइक रेट 131.22 का है। यानी अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो पाते हैं कि संजू सैमसन ऋषभ पंत से कहीं आगे हैं। लेकिन फिर भी उन्हें हर बार इंतजार ही करना पड़ता है। कप्तान चाहे कोई भी हो। विराट कोहली कप्तान रहे, तब भी यही हुआ। रोहित शर्मा आए तो भी यही हो रहा है और जब कभी हार्दिक पांड्या कप्तान होते हैं तो भी ऐसा ही देखने में आता है। संजू सैमसन की उम्र करीब 28 साल की है, अगर उन्हें लगातार मौके दिए जाएं तो काफी लंबे समय तक वे टीम इंडिया के लिए खेलकर कुछ नए कीर्तिमान बना सकते हैं।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12111/114spot_img

Latest article