सुहागरात से कुछ मिनट पहले इस हाल में मिला दूल्हा, दुल्हन की निकली चीख, पिता ने कहा- ये तूने क्या किया बेटा

1 min read

Groom’s death before suhagrat  उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले के तालग्राम से सनसनीखेज खबर सामने आई है। यहां सुहागरात के सजे कमरे में दूल्हे ने दुल्हन की चुनरी से फंदा लगाकर जान दे दी। घटना से शादी के घर में खुशियों की जगह मातम पसर गया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर आत्महत्या की वजह तलाशने में लगी है।

Groom’s death before suhagrat  तालग्राम थाना के मछरैया गांव निवासी रामविलास यादव खेती का काम करते हैं। उनके छोटे पुत्र मनोज यादव (23) की शादी गुरसहायगंज कोतवाली क्षेत्र के देवीपुर्वा निवासी लालू यादव की पुत्री गोल्डी (22) से तय हुई थी। 26 मई को बैंडबाजों के साथ बरात देवीपुर्वा पहुंची गई थी।

शादी की रस्मों के बाद बरात 27 मई को दूल्हा-दुल्हन के साथ घर लौट आई थी। 28 मई मंडल उखाड़ने और कंगन खोलने की रस्म अदायगी की गई। सुहागरात के लिए कक्ष को सजाया गया था। रात में 10 बजे दुल्हन को उसकी दो ननदों ने कमरे में पहुंचाया।

कुछ देर बाद दुल्हन बाथरूम में चली गई।।इस बीच दूल्हे ने दरवाजा बंद कर लिया और पंखा के सहारे दुल्हन की चुनरी से फंदा डाल कर लटक गया। दुल्हन शौचं से लौटी तो कमरे का दरवाजा अंदर से बंद मिला। खटखटाने पर नहीं खुला तो खिड़की से अपने पति को लटकता और तड़पता देखा तो शोर मचाया।
परिजनों ने गेट तोड़कर फंदे से उतारा और सौ शैय्या अस्पताल छिबरामऊ लेकर गए। वहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। थाना प्रभारी देवेश पाल ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। आत्महत्या की वजह तलाशने का प्रयास किया जा रहा है। अभी किसी पक्ष से कोई तहरीर नहीं मिली है।

सुहाग रात में मिलन से पहले ही उजड़ गया सुहाग
दुल्हन के पिता लालू यादव ने बताया कि उसके चार बेटियां हैं। बड़ी बेटी की पहले शादी कर चुके हैं। दूसरे नंबर की बेटी गोल्डी की शादी 27 मई को धूमधाम और सामर्थ्य अनुसार दहेज के साथ की थी। मंगलवार को चौथी की तैयारी कर रहे थे।

इससे पहले रविवार रात बेटी का सुहाग उड़ने की खबर मिली। बेटी से मिलने उसकी ससुराल पहुंचे माता-पिता उसका दर्द देख बेहाल हो गए। बेटी को अपने साथ घर ले जाने का प्रयास किया। लेकिन रिश्तेदारों के समझाने पर बेटी को ससुराल छोड़ मायूस लौट गए।

दुल्हन के पिता का कहना है कि अगर बेटी का देवर होता तो उसी से शादी कर देते लेकिन अब बेटी के भविष्य की चिंता सता रही है। एक-एक पैसा जोड़ कर शादी की थी। वहीं बहू का सुहाग तो उड़ गया सास-ससुर ने भी अपना बेटा खो दिया।

बेटा तूने यह क्या किया-पिता
अपने बेटे के गम में मां लाडलो देवी और पिता रामविलास भी पिता भी बदहवास हैं। अपने बेटा को खोने के गम में कुछ बताने की हालत में नहीं है। आंखों में आंसू लिए बाप बार-बार यही कह कर चुप हो जाते हैं कि बेटा तूने यह क्या किया।

तू तो चला गया और हमें जिंदा ही मार दिया। बेसुध माता-पिता को लोग पानी का छींटा मार सांत्वाना देते दिखे। यह मंजर देख सभी की आंखें नम होती रहीं। गांव में भी इस घटना से चारों तरह मातम पसरा है।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours